बसना तहसील मे फर्जी किसान पुस्तिका फर्जीवाड़ा का हुआ भंडाफोड़

CHHATTISGARH:महासमुंद जिले के बसना तहसील में एक बार फिर बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है, जहाँ हरिशंकर नायक पटवारी हल्का नंबर 33 द्वारा लक्ष्मण मिश्रा सेवानिवृत्त पूर्व तहसीलदार से सांठ-गांठ कर फर्जी किसान किताब बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, जांच के दौरान पटवारी के पास से तहसील कार्यालय व तहसीलदार ,नायब तहसीलदार ,अधीक्षक भू अभिलेख महासमुन्द का फर्जी सील के साथ 28 नग किसान किताब तथा संधारण पंजी बरामद किया गया है. मामले का खुलासा तब हुआ जब किसान मनोज पटेल , पदुम तथा निरंजन पटेल के द्वारा पंजीयन के फार्म में हस्ताक्षर हेतु आवश्यक दस्तावेज के साथ बसना तहसीलदार के समक्ष उपस्थित हुए थे तहसीलदार बसना को तत्कालीन तहसीलदार का हस्ताक्षर संदिग्ध प्रतीत होने के कारण किसान किताब के संबंध में जांच किया गया एवं किसान से पूछताछ किया गया किसानो के द्वारा बताया गया कि किसान किताब हरिशंकर हल्का पटवारी द्वारा तीन-चार माह पूर्व दिया गया है वहीं आरोपी हरिशंकर नायक पटवारी हल्का नंबर 33 तहसील बसना को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरायपाली द्वारा तहसीलदार बसना के जांच प्रतिवेदन अनुसार तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है. तथा उग्रसेन चौहान पटवारी हल्का नंबर 20 तहसील बसना से जवाब तलब किया गया है. जांच में हरिशंकर नायक पटवारी हल्का नंबर 33 तहसील बसना के द्वारा सील ओम कम्प्यूटर्स एवं फोटोकॉपी दुकान बसना से बनाये जाने की बात सामने आई..हरिशंकर नायक पटवारी हल्का नंबर 33 तहसील बसना एवं उनके अन्य सहयोगियों के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराया गया है. थाना प्रभारी बसना ने बताया कि मामले में 420 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध करने की कार्यवाही की जा रही है।

Share on:

Related posts

Comments are closed.