Featured Uncategorized छत्तीसगढ़ जन जीवन रायपुर विविध 

धमतरी : महानदी परियोजना के वृहद जलाशयों में खरीफ सिंचाई के लिए पर्याप्त जल उपलब्ध एक लाख चार हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए दिया जा सकता है पानी जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक में लिया गया निर्णय

धमतरी 14 जुलाई 2020

महानदी परियोजना के अंतर्गत धमतरी जिले के वृहद् जलाशयों मंे उपलब्ध 785 मिलियन घन मीटर उपयोगी जल के मद्देनजर खरीफ सिंचाई के लिए एक लाख चार हजार 951 हेक्टेयर क्षेत्र में पानी दिया जा सकता है। इससे धमतरी जिले में 87 हजार हेक्टेयर क्षेत्र तथा बालोद जिले के 17 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकती है। कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य की अध्यक्षता में आज दोपहर एक बजे से कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आहूत जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक में उक्त संबंध में निर्णय लिया गया।
इस मौके पर जल प्रबंध संभाग रूद्री के कार्यपालन अभियंता श्री उमाकांत रामटेककर ने बताया कि महानदी परियोजना के तहत जिले के वृहद् जलाशयों की कुल जल भराव क्षमता 1562.59 मिलियन घन मीटर है। जिसमें उपयोगी जल भराव क्षमता 1393.12 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध आज की तारीख में 785 मिलियन घन मीटर उपयोगी जल उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि इसमें से विभिन्न प्रयोजनों के लिए 415 मिलियन घन मीटर प्रस्तावित आरक्षित जल की मात्रा है। शेष बचे 370 मिलियन घन मीटर जल से खरीफ सिंचाई की जा सकती है। ध्यान रहे कि विभिन्न प्रयोजन, जिसके लिए जल आरक्षित रखा जाता है, इसमें भिलाई स्टील प्लांट के लिए 68 मिलियन घन मीटर, भिलाई पॉवर प्लांट के लिए 17 मिलियन घन मीटर, भिलाई नगर निगम के लिए 23 मिलियन घन मीटर के अलावा निस्तारी के 85 मिलियन घन मीटर, रायपुर नगर निगम में पेयजल के लिए 105 मिलियन घन मीटर, धमतरी नगर निगम में सात मिलियन घन मीटर, वाष्पण एवं क्षरण हेतु न्यूनतम 56 मिलियन घनमीटर तथा मुरूमसिल्ली, दुधावा एवं सोंढूर बांध में जल की आवश्यकता 56 मिलियन घनमीटर को आरक्षित रखा जाएगा। इसके अलावा शेष बचे जल का उपयोग खरीफ सिंचाई के लिए किया जाएगा।
बैठक में यह भी बताया गया कि रविशंकर सागर जलाशय गंगरेल कुल जल भराव क्षमता 910.50 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध उपयोगी जल भराव क्षमता 767 मिलियन घनमीटर है। वर्तमान में इसमें 51 प्रतिशत अर्थात 391 मिलियन घनमीटर उपयोगी जल उपलब्ध है। इसी तरह 165.34 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता वाले मुरूमसिल्ली जलाशय में उपयोगी जल भराव क्षमता 162 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध 61 मिलियन घन मीटर अर्थात 56 प्रतिशत उपयोगी जल उपलब्ध है। दुधावा जलाशय में 68 प्रतिशत अर्थात 193 मिलियन घन मीटर उपयोगी जल उपलब्ध है। ज्ञात हो कि इसकी कुल जल भराव क्षमता 288.65 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध उपयोगी जल भराव क्षमता 284.12 मिलियन घन मीटर है। इसके अलावा सोंढूर जलाशय, जिसकी कुल जल भराव क्षमता 198.10 मिलियन घन मीटर है। इसकी उपयोगी जल भराव क्षमता 180 मिलियन घन मीटर है, जिसमें फिलहाल 78 प्रतिशत अर्थात 140 मिलियन घन मीटर जल उपलब्ध है।
बैठक में निर्णय लिया गया है कि खरीफ सीजन में किसानों द्वारा मांग किए जाने पर कुल प्रस्तावित 1,04,951 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। इस मौके पर विधायक धमतरी श्रीमती रंजना साहू, सिहावा विधायक के प्रतिनिधि के रूप में श्री शरद लोहाणा सहित जिला जल उपयोगिता समिति के अन्य सदस्य एवं अधिकारी मौजूद रहे।

Share on:

Related posts

Comments are closed.