छत्तीसगढ़ जन जीवन बड़ी खबर रायपुर 

82 कोरोना मरीज मिले, बलरामपुर 22, रायपुर 11, अब तक 1864 संक्रमित.

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज शाम तक 82 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। सबसे ज्यादा 22 मरीज बलरामपुर में पाए गए। बलौदाबाजार में 12, रायपुर व जांजगीर-चाम्पा में 11-11, दुर्ग में 9, राजनांदगांव में 8, बिलासपुर में 4, कोरिया में 3 एवं कोरबा में 2 मरीज मिले। प्रदेश में में आज 46 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए। राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 1864 पहुंच चुकी है। इनमें से 756 मरीजों का राज्य के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। जबकि 1099 लोगों को स्वस्थ्य होने के बाद…

Read More
Featured National Uncategorized मनोरंजन विविध 

गंगा में विसर्जित की गईं सुशांत की अस्थियां, परिवार के करीबी लोग हुए शामिल, पटना में ही होगा श्राद्धकर्म

Bollywood:बिहार के लाल सुशांत सिंह राजपूत की अंत्येष्टि के बाद उनकी अस्थियां गुरूवार को गंगा में विसर्जित की गईं. इस दौरान सुशांत के परिजन और उनके बेहद करीबी लोग उपस्थित रहें. मुंबई के विले पार्ले श्मशान घाट पर अंत्येष्टि के बाद सुशांत की अस्थियां पटना लाई गई थीं. राजधानी के गांधी घाट पर उनकी अस्थियां विसर्जित की गईं. बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह, उनकी बहन श्वेता सिंह कीर्ति और परिवार के बेहद करीबी लोग ही इस दौरान उपस्थित रहें. गुरूवार की दोपहर एक बजे पटना…

Read More
बड़ी खबर बड़ी ख़बर 

Jagannath Rath Yatra: 284 साल में पहली बार पुरी से नहीं निकलेगी जगन्नाथ रथ यात्रा’ सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने ओडिशा के पुरी में 23 जून से शुरू होने वाली भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा पर गुरुवार को रोक लगा दी। चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने कहा- अगर कोरोना के बीच हमने इस साल रथयात्रा की इजाजत दी तो भगवान जगन्नाथ हमें माफ नहीं करेंगे।   सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब महामारी फैली हो, तो ऐसी यात्रा की इजाजत नहीं दी जा सकती, जिसमें बड़ी तादाद में भीड़ आती हो। लोगों की सेहत और उनकी हिफाजत के लिए इस साल यात्रा नहीं होनी चाहिए। चीफ…

Read More
बड़ी खबर 

PM ने की कोयला क्षेत्र में कमर्शियल माइनिंग की शुरुआत, कहा इस छेत्र में होगा बड़ा सुधार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निजी क्षेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी की प्रक्रिया की शुरुआत की. यह एक बड़ा आर्थिक सुधार है, जिसकी दशकों से निजी क्षेत्र मांग कर रहे थे. आइए जानते हैं कि क्या है इसका मतलब और इससे क्या होगा बदलाव? आज के दिन को भारत के कोयला क्षेत्र के लिए बड़ी आजादी का दिन बताया जा रहा है. अब निजी क्षेत्र के कोयले के इस्तेमाल और कीमतों के मामले में पूरी तरह से आजाद होगा. कोरोना संकट…

Read More