Featured छत्तीसगढ़ बड़ी खबर बिलासपुर ब्यूरोक्रेट्स रायपुर विडियो 

झीरम काण्ड न्यायिक जांच आयोग के समक्ष प्रस्तुत हुए डॉ शिवनारायण द्विवेदी, मंत्री कवासी लखमा पर लगाये नक्सलीयों से सांठगांठ के आरोप, बताया जान का खतरा

बिलासपुर: आज पूर्व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता डॉ शिवनारायण द्विवेदी जी ने बिलासपुर जाकर झीरम कांड की जांच कर रही न्यायिक जांच आयोग के समक्ष अपना शपथ पत्र एवं कथन प्रस्तुत किया जिसमें उन्होंने झीरम कांड की सिलसिलेवार जानकारी दी तथा कई गंभीर आरोप लगाया उन्होंने तत्कालीन विधायक एवं वर्तमान आबकारी एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा पर गंभीर आरोप लगाए उन्होंने कहा कि नक्सली कवासी लखमा को पहले से पहचानते थे एवं लखमा के बोलने के बाद ही नक्सलियों ने फायरिंग बंद की थी ।गौरतलब है कि उक्त रैली में कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जिसमें की तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल महेंद्र कर्मा श्री विद्या चरण शुक्ला श्री उदय मुदलियार श्री योगेंद्र शर्मा सहित 29 लोगों की जघन्य हत्या हुई थी साथ ही नक्सली कवासी लखमा के अलावा अन्य किसी भी नेता को नहीं पहचानते थे जिससे साफ-साफ यह प्रतीत होता है की कवासी लखमा की नक्सलियों से सांठगांठ थी आगे उन्होंने आयोग को दिए बयान में कहा कि कवासी लखमा का नारको टेस्ट भी किए कराया जाना चाहिए जिससे घटना की सच्चाई सामने उजागर हो सके साथ ही उन्होंने बताया कि दिनेश पटेल 15 जून को बड़ा खुलासा करने वाले थे जिसके कारण ही नक्सलियों ने उनकी जघन्य हत्या की इसके आगे उन्होंने झीरम कांड की जांच सीबीआई से कराने की भी मांग की साथ ही डॉ द्विवेदी ने कब बताया कि वह इस विषय को लेकर जिसमें कि नारको टेस्ट एवं सीबीआई जांच के संबंध में एक जनहित याचिका जल्द ही वह हाई कोर्ट में दाखिल करने वाले हैं।

गौरतलब है कि झीरम कांड जांच न्यायिक आयोग ने आज घटना में शामिल प्रत्यक्षदर्शियों को आज शपथ पत्र एवं कथन के लिए बुलाया था जिसमें डॉक्टर शिवनारायण द्विवेदी जी के अलावा शैलेश नितिन त्रिवेदी विधायक एवं महापौर देवेंद्र यादव भी शामिल थे घटना के 6 साल बाद एक बार फिर से झीरम कांड की आग एक बार फिर तेज हो गई है जिससे कि राजनीतिक हलकों में भी खलबली मचना स्वाभाविक है चित्रकूट विधानसभा चुनाव से ठीक पहले यह बयान निश्चित तौर पर ही कुछ रंग ला सकता है अब देखना यह है कि आगे पक्ष विपक्ष इस मामले में क्या प्रतिक्रिया देता है।

Share on:

Related posts

2 Thoughts to “झीरम काण्ड न्यायिक जांच आयोग के समक्ष प्रस्तुत हुए डॉ शिवनारायण द्विवेदी, मंत्री कवासी लखमा पर लगाये नक्सलीयों से सांठगांठ के आरोप, बताया जान का खतरा”

  1. After research just a few of the blog posts in your web site now, and I truly like your means of blogging. I bookmarked it to my bookmark web site record and might be checking again soon. Pls check out my web site as well and let me know what you think.

Leave a Comment